Wednesday, May 10, 2017

हज़ारों ना - मुकम्मल हसरतों के बोझ तले ऐ दिल, तेरी हिम्मत है जो तू धड़कता है Ashok Pratap Yadav

हज़ारों ना - मुकम्मल हसरतों के बोझ तले 
ऐ दिल, तेरी हिम्मत है जो तू धड़कता है 
Ashok Pratap Yadav
Ashok Pratap yadav
Add caption
Ashok Pratap yadav -Udaipur - 12-04-2015
Previous Post
Next Post

0 comments: